कोरबा/स्नेक रेस्क्यू टीम जिले के अलग अलग क्षेत्र में जीव जंतु के संरक्षण में कार्य कर रही हैं, सांपो के साथ अलग अलग जीवों को बचाने में लगी हैं उसी कड़ी में राजस्व कॉलोनी के पास जहा बजरंग बली का मंदिर है रोजाना की तरह पुजारी पूजा में लगे थे कि तभी पास में ही झाड़ियों में कुछ हिलते दिखा पास में जाकर पुजारी जी ने देखा तो एक बड़े आकर का उल्लू था जो उड़ पाने में असमर्थ था जिसके बाद पुजारी जी ने आस पास टेहल रहें लोगों को इसकी जानकारी दी जिसमे से एक व्यक्ति ने तुरंत स्नेक रेस्क्यू टीम के प्रमुख जितेंद्र सारथी को फोन किया इसकी सूचना दी जिसके बाद जितेंद्र सारथी और उसकी टीम के साथ पहुंची मौके में पहुंचे उन्होंने उल्लू को उस झाड़ी से निकाल के एक चबूतरे से बैठा के जिसको देखने पर पता चला चोट लगने के कारण उड़ने मै असमर्थ हैं जिसके बाद जितेंद्र ने तुरंत पशु चिकित्सक श्री गुजर से संपर्क किया रात होने की वजह से दूसरे दिन आने को कहा, दूसरे दिन जितेंद्र सारथी डॉक्टर गुज्जर के पास पहुंचे, श्री गुज्जर ने बिना देरी किए चोटिल उल्लू का उपचार सुरु कर दिया, बहुत बड़ा घाव होने की वजह से कीड़े लग चुके थे जिसको पूरा साफ़ किया गया, जिसके ऊपर दवाई भी लगाई गई जिसके बाद उल्लू भी आराम करता दिखा मानो दर्द कम हुआ हो, इलाज होने के बाद जितेंद्र सारथी ने उसे वन विभाग को सौंप दिया।