रायपुर: प्रदेश की मौजूदा कानून व्यवस्था को लेकर गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने पुलिस प्रशासन की प्रशंसा की है. उन्होंने भाजपा के आरोपों को सिरे से नकारते हुए कहा कि प्रदेश में कानून-व्यवस्था बिल्कुल दुरुस्त है और पुलिस बहुत बढ़िया कार्य कर रही है. कोंडागांव प्रकरण के विषय में उन्होंने कहा कि प्रकरण में 7 लोगों को हिरासत में लिया जा चुका है और केस में तत्काल कार्रवाई नहीं करने पर तत्कालीन थाना प्रभारी को निलंबित कर जांच के आदेश दिए गए हैं.
मुख्यमंत्री ने समय-समय पर विभाग की बैठक ली और गृहमंत्री साहू ने बीते 23 सितंबर की समीक्षा बैठक में महिलाओं के खिलाफ अपराधों के मामले में तत्काल कड़ी कार्रवाई करने के लिए सभी रेंज, महानिरीक्षक और पुलिस अधीक्षकों को स्पष्ट रूप से निर्देशित किया है. नशे के कारोबार में छत्तीसगढ़ पुलिस की कार्रवाई के विषय में उन्होंने कहा कि नशे के सेवन से युवा पीढ़ी बर्बाद होती है. इसको देखते हुए समय-समय पर इस विषय की समीक्षा करते हुए सख्त कार्रवाई के लिए सभी पुलिस अधीक्षकों को निर्देशित किया गया है.

भाजपा कार्रवाई करती तो नशे का कारोबार नहीं पनपता: गृहमंत्रीगृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि पिछले डेढ़ सालों में पूरे प्रदेश में गांजा और अन्य नशीले पदार्थों की जब्ती की जा रही है. इस मामले में आरोपियों की धर पकड़ भी जारी है. रायपुर पुलिस विशेष कार्रवाई कर रही है. उन्होंने पिछली सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा शासन में नशे का कारोबार खूब फला-फूला. उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस की सरकार आने से जो कड़ाई अभी बरती जा रही है, वो 15 सालों के लंबे कार्यकाल में यदि की जाती, तो आज राज्य में नशे का कारोबार पनप नहीं पाता

नक्सल घटनाओं में 47 प्रतिशत की कमीप्रदेश सरकार की पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर नक्सली समाज की मुख्यधारा में शामिल हो रहे हैं. दशकों बाद शहरी नक्सल नेटवर्क को तोड़ने में बड़ी सफलता मिली है. नक्सल प्रभावित जिलों में विकास के लिए स्कूल, सड़क, बिजली, आदि मूलतभूत कार्य किए जा रहे हैं. नक्सल घटनाओं में 47 प्रतिशत की कमी आई है. गृहमंत्री ने नक्सल समस्या बढ़ने को लेकर पूर्व की बीजेपी सरकार पर हमला बोला है.